shayari new sad,shayari sad new 2020,

shayari new sad,shayari sad new 2020,

shayari new sad, Yah Kuchh shayari hai. doston kuchh galatfahmi Ke Karan aajkal ke. Premi apni Premika aur Premka apni Premi Se Alag Ho Jaate Hain. yah shayari Unki gam Banane mein. sahayata Karega.shayari new sad,

Doorie shayari Hindi

कागज कागज हर तरफ सजाया करता है |
तन्हाई में शहर बसाया करता है |
कैसा पागल सक्स है सारी सारी रात |
दीवारों को दर्द सुनाया करता है |
रो देता है अपनी ही अपनी बातों पर |
और फिर खुद को अपने हंसाया करता है है |

Kaghaj kaghaj har taraf sajjaya karta hai |
Tanhai Mein Shahar bataya karta hai |
Kaisa paagal shaks Hai Sari Sari Raat |
Diwaron ko Dard sunaya Karta Hai |
Roj deta hai apni hi apni Baton per |
Aur FIR Khud Ko Apne hansaya karta hai |

Advertisement
shayari new sad

लोग कहते हैं कि लड़कियां जिंदगी होती है मौत नहीं |
मगर वह क्या जाने कि धोखा भी जिंदगी देती है मौत नहीं |

Aate Hain Kyon ladkiyan Jindagi Aati Hai Maut Nahin |
Magar vah Kya Jaane Ki Dhokha bhi Jindagi Deti Hai Maut Nahin |

shayari new sad

sad shayari Bewafai

वह नदिया नहीं आंसू थे मेरे |
जिन पर वह कश्ती चलते रहे |
मंजिल मिले उन्हें यह चाहत थी मेरी |
इसलिए हम आंसू बहाते रहे |

Vah nadiya Nahin Aansu the Mere |
Jin Par vah Kashti chalate rahe |
Manjil Mile unhen yah Chahat Hai Meri |
Isliye Ham Aansu bahate Rahe |

shayari new sad

shayari new sad

तुझे भूल कर भी ना भूल पाएंगे हम |
बस यही एक वादा निभा पायेंगे हम |
मिटा देंगे खुद को भी जहां से लेकिन |
तेरा नाम दिल से ना मिटा पाएंगे हम |

Tujhe Bhul Kar Bhi Na Bhul Payenge ham |
Bus Yahi Ek Vada Nibha Payenge ham |
Mita Denge Khud Ko Bhi Jahan se Lekin |
Tera naam Dil Se Na Mita Payenge ham |

shayari new sad

MERIDOSTI

दिल के जख्मों को उनसे छुपना पड़ा |
आंखें तर है मगर मुस्कुराना पड़ा |
कैसे मोहब्बत के हैं सिलसिले |
रूठना चाहते थे मनाना पड़ा |

Dil Ke jakhmo ko unse chhupana Pada |
Ankh tar Hai Magar Muskurana Pada |
Kaise  Mohabbat ke Hai Silsile |
Ruthna Chahte the Manana Pada |

Leave a Reply