sad shayari bewafai वादे भी दोस्त ने क्या खूब निभाया |

sad shayari bewafai वादे भी दोस्त ने क्या खूब निभाया |

sad shayari bewafai yah Kuchh shayari Hai. doston un Pyar Karne Walon ke liye hain. Jo Kuchh galatfahmi Ke Karan Ek dusre ka Sath Chhod Dete Hain. Kuchh Majburi Ke Karan Kuchh matlab Ek dusre ka Sath Chhod Dete Hain. yah shayari UN Logon ka Kuchh madad karegi. sad shayari bewafai

READ more (Sad Shayari 2020)

वादे भी दोस्त ने क्या खूब निभाया |

जख्म मुफ्त में और दर्द तोहफे में  भेजवाया |

इससे बढ़कर वफ़ा की मिसाल क्या होगी |

मौत से पहले ही दोस्त कफन ले आए |

Vaade bhi Dost Ne Kya Khub nibhaya |

Jakhm muft mein aur Dard tohfe Mein bhejwaya |

isse Badhkar Wafa ki Misal Kya Hogi |

Must se pahle hi dost ka Kaden le Aaye |

सोचता हूं इन सागर की लहरों को देखकर |

क्यों यह किनारे से टकराकर लौट जाती हैं |

करती है यह किनारे से बेवफाई |

या सागर से वफा निभाती हैं |

Sochta Hun in Sagar ki laharon Ko Dekhkar |

Kyon yah Kinare Se takra Kar Laut jaati hai |

Karti Hain yah Kinare se Bewafai |

ya Sagar Se Wafa nibhati hai |

sad shayari bewafai

sad shayari bewafai

Read more (Ehsaas shayari in Hindi)

किस्मत रुक गई दिल के तार टूट गए  |

वह भी रूठ कर गए सपने भी टूट गए |

खजाने में थे सिर्फ दो आंसू |

जब याद आई आपकी तो वो भी टूट गए |

Advertisement

Kismat Ruk Gai Dil Ke taar Toot Gaye |

vah bhi Ruth Kar Gaye Sapne bhi Tut gaye |

khajane Mein the Sirf do Aansu |

Jab Yad I aapki to vo bhai  Tut gaye |

हर गम है तेरे प्यार के खातिर |

हर दीवार तोड़ी तेरे प्यार की खातिर |

उम्मीद मिटा दी तुम्हें पाने की खातिर |

और तुमने दिल तोड़ दिया जमाने की खातिर |

Har Gum Hai Tere Pyar Ki Khatir |

Sare Deewar Todi Tere Pyar Ke Khatir |

Ummid Mita Di Tumhen pane Ki Khatir |

Aur Tumne Dil Tod Diya Jamane Ki Khatir |

Read more (love shayari pic)

जिनकी याद में हम दीवाने हो गए |

वो ऐसे बेगाने हो गए शायद उन्हें तलाश है |

अब नए दोस्त की क्योंकि उनकी नजर में |

अब हम पुराने हो गए |

Jinki Yad Mein Ham Deewane Ho Gaye |

Vo Aise Begane Ho Gaye Shayad unhen Talash Hai |

Ab naye dost ki Kyunki Unki Najar mein |

Ab Ham purane Ho Gaye |

sad shayari bewafai

sad shayari bewafai

वादे किसी से इरादे किसी से |

ईसारे किसी से निगाहें किसी से |

अब यार तुम्हारा भरोसा ही क्या |

जो आधे हमारे आधे किसी के |

Vada Kisi Se Irade Kisi Se |

Ishare Kisi Se Nigahe Kisi Se |

ab yaar Tumhara Bharosa hi kya |

Jo aadhe Hamare aadhe kisi ke |

Read more (Hindi shayari Dosti birthday)

मोहब्बत मुझे थी उससे इतनी सनम |

यादों में दिल तड़पता रह |

मौत भी मेरी चाहत को रोक ना सकी |

कबर ने भी दिल धड़कता रहा मोहब्बत |

Mohabbat Mujhe thi usse Itni Sanam |

Yadav Mein Dil Tadapta Raha |

Maut Bhi Meri Chahat ko rok Na Saki |

Qabar mein bhi Dil dhadka Raha |

जिंदगी गुजर गई दिल को समझाने में |

प्यार के उन किसो को भुलाने में |

समक्ष बैठे थे जिसको जिंदगी अपनी |

शामिल थे मेरी बर्बादी का जशन मनाने में |

Jindagi Gujar Gai Dil Ko Samjhane mein |

Pyar Ke UN kisso ko Bhulane mein |

Samajh Baithe the jinko Jindagi apni |

Shamil the meri barbadi ka Jashn manane mein |

sad shayari bewafai

Meridosi.in

sad shayari bewafai

वो हमें छोड़ गए इसमें उनका क्या कसूर था |

उनका प्यार शायद मेरे नसीब में ही ना था |

बगैर उनके भी अब जी लेते हैं हम |

वो एक सीतरा जो कभी मेरे करीब ही ना था |

Vo Hamen Chhod Gaye ismein Unka kya Kasur tha |

Unka Pyar shayad Mere Naseeb Mein Hi Na Tha |

Bagair unke bhi Ab Jee Lete Hain Ham |

Vo ek Sitara Jo Kabhi Mere Kareeb hai na |

वादा तो कर लेते है |

निभाना भूल जाते हैं |

लगाकर आग सीने में |

बुझाना भूल जाते हैं |

भूलना तो आदत हो गई है लोगों की |

रुलाते हैं और फिर मनाना भूल जाते |

Wada to kar lete hain |

NiBhana Bhul Jaate Hain |

Lagakar Aag Seene Mein |

Bujhana Bhul Jaate Hain |

Bhulna To Aadat ho gai hai Logon ki |

Rulate hain aur FIR Manana Bhul Jaate Hain |

ना आना उसे लेकर मेरे जनाजे में |

समा के पीछे परवने चले आते |

तुम्हें याद ना अयी खैर |

आना मेरी मौत पर |

उस दिन तो बेगाहे भी चले आते है |

Na Aana use Lekar mere janaje mein |

Ana ke pichhe Parwane Chale Aate Hai |

Tumhe Yad na Ayae Ghair |

Aana Meri maut Par |

USS din to Begane bhi chale Aate Hai |

Leave a Reply