sad shayari 2020 इन आंखों में आंसू आए ना होते |

sad shayari 2020

sad shayari 2020

Sad shayari 2020 yah Kuchh shayari Hai. Doston Jab Kisi Ka Dil tutata hai To bahut takleef Hota Hai. isliye yah shayari UN Logon ke liye hai jo Pyar Mein Dhokha khae Hain. Unki Tanhai aur unke dard ko baatne mein madad Karegi sad shayari 2020

Love shayari pic

इन आंखों में आंसू आए ना होते |

वह जो मुड़ मुड़ कर यूं मुस्कुराए ना होते |

उनके जाने के बाद यह गम होता है |

काश वो जिंदगी में आए ना होते |

In Aankhon Mein Aansu Aaye Na Hote |

vah Jo mud mud  kar youn Muskuraye Na Hote |

Unke jaane ke bad yah gam Hota Hai |

Kash vo Jindagi Mein Aaye Na Hote |

धोखा दिया था जब तुमने मुझे |

दिल से मैं नाराज था |

फिर सोचा कि दिल से तुम्हें मार दूंगा |

मगर वो कमबख्त दिल भी तुम्हारे पास था |

Dhokha diya tha Jab tumne mujhe |

Dil Se Main naraj tha |

Fir Socha Ki Dil Se Nikal dunga |

Magar vo Kambakht Dil Bhi tumhare paas tha |

sad shayari 2020

मुस्कान के दायरे में हमेशा खुशी नहीं होती |

आंसू के बाहवों में हमेशा गम नहीं होता |

बढ़ जाए चाहे फासले |

Muskan ke dayre mein Hamesha Khushi Nahin Hoti |

Aansu ke Bahwo Mein Hamesha Gam Nahin Hota |

badh Jaenge chahie Fasle |

उसकी याद में देखो हम क्या करते हैं |

बिखरी हुई जिंदगी में दीवारों से बातें करते हैं |

Advertisement

देखा उसे कल मैंने पर वह एक छलावा निकला |

मेरी किस्मत देखो जो मेरा था वह पराया निकला |

Uski Yad Mein Dekho Ham Kya Karte Hain |

bikhri Hui Jindagi Mein diwaron Se baten Karte Hain |

Dekha use cal maine Par wah Ek chhalava nikala |

Meri Kismat Dekho Jo Mera Pyar Tha wah paraayaa nikala |

शमा जलती है परवाने चले आते हैं |

सर के बल इश्क के दीवाने चले आते हैं |

अब तो आ जाओ मेरी जान की जनाजा उठने को है |

लोग तो गैरों को भी दफनाने चले आते हैं |

Sam Jalti Hai parwane Chale Aate Hain |

Sar ke Bal Ishq Ke Deewane Chale Aate Hain |

Ab to aJao Meri Jaan Ki janaja uthane ko hai |

log to gairon ko bhi Dafnane Chale Aate Hain |

sad shayari 2020

Very sad shayari

दर्द कितने हैं बता नहीं सकती |

जख्म कितने हैं दिखा नहीं सकती |

आंखों से समझ सको तो समझ लो |

आंसू गिरे हैं कितने गिना नहीं सकती |

Dard kitne hain Bata Nahin sakti |

Jakhm kitne hain dikha Nahin sakti |

Aankhon Se samajh Sako To samajh lo |

Aansu Gire Hain kitne Gina Nahin sakti |

उन्होंने देखा आशु गिर पड़े |

भरी बसंत में जैसे फूल गिर पड़े |

दुख यह नहीं कि उन्होंने हमें अलविदा कहा |

 दुख तो यह है कि उसके बाद वह खुद भी रो पड़े |

Unhone Dekha Ashu geer Pade |

Bhari Vasant Mein Jaise Phool Gir Pade |

Dukh to yah Nahin Ki unhone Hamen Alvida Kaha Diya |

Dukh to yah hai ki Uske Baad vah Khud bhi Ro Pade |

Hindi shayari

समझा ना कोई दिल की बात को |

दर्द दुनिया ने बिना सोचे ही दे दिया  |

सह गए जो हम अगर दर्द को चुपके से |

तो फिर हमको पत्थर दिल कह दिए |

Samjha na koi Dil Ki Baat Ko |

Dard Duniya Ne Bina soche Hi De Diya |

Sah Gaye Jo Ham Agar Dard ko Chupke Se |

to Fir Hamko Pathar Dil Kah Diye |

sad shayari 2020
sad shayari 2020
sad shayari 2020

मेरी आंखों से बहे जज्बात तुझ तक ना पहुंच सके |

इस दरिया में शायद इतनी धार ना थी |

फिर अकेली में क्या करती |

तेरे नजर भी तो बेकरार ना थी |

Meri Aankhon Se Bahe jajbaat Tujh Tak Na pahunch sake |

Iss Dariya mein shayad Mein dhar na thi |

FIR Akeli mein kya karti |

Tere Najar bhi to Bekarar Na Thi |

तकदीर ने कुछ ऐसा खेल मेरे साथ खेला है |

जो कभी अपना था वह आज पराया बनकर बैठा है |

ये खुदा अब तू बता किसको सुनाएं यह हाले दिल |

हर अपना तो अजनबी बनकर बैठा है |

Takdeer ne Kuch Aisa Khel Mere Sath khela hai |

Jo Kabhi Apna tha vah aaj paraayaa Bankar baitha hai |

Ye Khuda Ab To Bata Kisko sunaya Hal a Dil |

Har Apna to Ajnabi Bankar baitha hai |

sad shayari 2020

Meridosti.in

सपनों की तरह आकर चले गए |

अपनों को भुला कर चले गए |

किस भूल की सजा दी उन्होने |

पहले हंसाया फिर रुला कर चले गए |

Sapnon Ki Tarah Akar Chale Gaye |

Apno Ko Bhula Kar Chale Gaye |

Kis Bhul ki Saja di unhone |

Pahle hasaya FIR Rula Kar Chale Gaye |

sad shayari 2020
sad shayari 2020

दिल के जख्मों को उनसे छुपाना पड़ा |

आंख तर है मगर मुस्कुराना पड़ा |

कैसे मोहब्बत के है सिलसिले |

रूठना चाहते थे मनाना पड़ा |

Dil Ke jakhm ko Unse Chhupana pada |

Ankh tar Hai Magar Muskurana Pada |

Kaise Mohabbat Ke Hain Silsile |

Ruthna Chahte the Manana Pada |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *