judai shayari कैसा अजब जमाना है |
judai shayari

judai shayari कैसा अजब जमाना है |

judai shayari yah shayari hai. dost Judai shayari Kuchh galatfahmi. ke Karan kuch Pyar Karne Wale Judaa Ho Jaate Hain. Yah shayari un logo ki madad karegi. Ek dusre ka Gam batne mein sahayata karegi. Ek dusre ko Ehsaas dilane main madad karegi. Ek dusre ko Kareeb laane Mein. madad karegi judai shayari

Read more  One Side love

judai shayari

कैसा अजब जमाना है |

कौन समझा है किसने जाना है |

काश हमसे वो जुदा ना होते |

जिसपे अब भी यह दिल दीवाना है |

Kaisa Ajab Jamana hai |

Kaon samjha hai Kisne Jana Hai |

Kash Hamse vo Juda Na Hote |

Jispe ab bhi yah Dil Deewana Hai |

आज भी उनकी नजरों में राज वही था |

चेहरा वही था चेहरे का लिबाज वही था |

कैसे उसको बेवफा कह दूं यारो |

आज भी उनके मिलने का अंदाज भी वहीं था |

Aaj Bhi Unki najron mein Raj Vahi tha |

Chehra Vahi tha Chehre Ka liwaj Vahi tha |

Advertisement

Kaise usko Bewafa kah Do Yaaro |

Aaj Bhi Uske milane Ka Andaz Bhi wahi tha |

judai shayari
judai shayari

Read more Love sher Shayari

दिल की धड़कन को दिखाया नहीं जाता |

मोहब्बत में लगी को बुझाया नहीं जाता |

लाख जुदाई हो प्यार में फिर भी जिंदगी का |

पहला प्यार भुलाया नहीं जाता |

Dil Ki Dhadkan ko dikhaya Nahin Jata |

Mohabbat Mein Lagi ko Bujhaya Nahin |

Jata lakh Judai Ho Pyar Mein Fir Bhi |

Jindagi Ka pahla Pyar Bhulaya Nahin Jata |

हर तरफ यादों के समा हैं |

तेरे प्यार आज भी मेरे दिल में जवा हैं |

और तो सब कुछ मिल गया मुझे जिंदगी में |

मगर तेरे प्यार को आज भी तरसे ये जीस्म और जान है |

Har Taraf Yadon Ke Sama hai |

tere pyar Aaj Bhi Mere Dil Mein Jawan Hai |

Aur to sab Kuchh Mil Gaya Mujhe Jindagi Mein |

Magar tere pyar ko Aaj Bhi Tarse yah Jism Aur Jaan Hai |

judai shayari

Read more Love Shayari pic

मुश्किल नहीं है इश्क लड़ाना |

उससे भी आसान है उसका प्यार पाना |

फिर भी डरते हैं हम प्यार करने से |

क्योंकि सबसे मुश्किल है उसको भुला पाना |

Mushkil Nahin Hai Ishq ladana |

usse bhi Aasan Hai Uska Pyar Pana |

Fir Bhi darte Hain Ham Pyar Karne Se |

Kyunki sabse Mushkil hai usko bhula Pana |

judai shayari
judai shayari

क्यों हमें किसीकी तलश आई होती है |

क्यों दिल को किसी का आस होती है |

चांद को देखो वह भी तो तन्हा है |

फिर भी उसकी चांदनी से रोशनी ये रात होती है |

Kyon Hamen Kisiki Talash I hoti hai |

Kyo Dil Ko Kisi Ka aas Hota Hai |

Chand Ko Dekho vah bhi to Tanha hai |

fir bhi uski Chandni Se Roshan Raat Hota Hai |

Read more Meridosti.in

आज वो हमसे कुछ खफा लगते हैं |

खफा होके कितने प्यारे हमारे हमनवा लगते हैं |

बस क्य कहें और हम उनके बारे में |

वह कभी खुदा तो कभी बेवफा लगते हैं |

Aaj vo Humse Kuchh Khabar Lagte Hain |

Khafa hokar kitne Pyare Hamare Ham Nava Lagte Hain |

bus Kya Kahen aur ham unke bare mein | 

vah Kabhi Khuda To Kabhi Bewafa Lagte Hain |

Leave a Reply