jokes shayari hindi पानी आने की बात करते हो |
jokes shayari hindi

jokes shayari hindi पानी आने की बात करते हो |

jokes shayari hindi yah Kuchh shayari Hai. Doston Jo aapke liye Manoranjan karne mein madad Karega. Ek dusre ke sath Ek dusre ke sath. majak karne main madad Karenge . jokes shayari hindi

Joke Shayari Hindi mai

jokes shayari hindi

पानी आने की बात करते हो |

दिल लगाने की बात करते हो |

चार दिन से मुंह नहीं धोया |

तुम नहाने की बात करते हो |

Pani Aane Ki Baat Karte Ho |

Dil Lagane Ki Baat Karte Ho |

Char Din Se Munh Nahin Shots |

tum nahane ki baat karte ho |

जमाने ने हमको दीवाना बना दिया  |

बनाना था जिसका बाप उसका मामा बना दिया |

Jamane Ne Humko Deewana banaa Diya |

banana tha Jiska Baap uska mama bana diya |

इस दिल में तराने बहुत हैं |

जिंदगी जीने के बहाने बहुत हैं |

किस चीज को s.m.s. करूं |

कमबख्त इस नाचीज के दीवाने बहुत हैं |

Iss Dil mein tarane bahut hai |

Jindagi Jeene Ke Bahane bahut hai |

Kis chij ko SMS karun |

Kambakht iss Nachij Ke Deewane bahut hai |

Shayari Hindi Maza

लोहे को लोहा काटता है |

सोने को सोना काटता है |

जहर को जहर काटता है |

इसलिए तेरे को कुत्ता काटेगा |

Lohe ko Loha Katta hai |

Sone ko Sona Karta Hai |

Jahar ko Jahar katata hai |

isliye tere ko kutta Katega |

jokes shayari hindi

अजीब सी कशिश है तुम में |

कि हम तुम्हारे ख्यालों में खोए रहते हैं |

यह सोच कर कि तुम ख्वाबों में आओगे |

हम दिन मे भी सोए रहते हैं |

Ajeeb Si Kashish Hai Tum Me |

Ki Ham Tumhare Khayalon Mein Khoye Rehte Hain |

Advertisement

yah sochkar Ki Tumko Khabo Mein Aaoge |

Ham din bhar mein bhi Soye Rehte Hain |

किसकी है मजाल जो छेड़े दिलेर को |

गर्दिश में घेर लेते हैं कुत्ते भी शेर को |

Kiski hai mjaal jo chhede diler ko |

Gardish me gher lete hai kutte bhi Sher ko |

Ehsaas Shayari Hindi

समा रो रो के परवानों से कह रही है |

मुझे रुमाल ला दो मेरी नाक बह रही है |

Sama Ro Ro ke parwane se kah rahi hai |

Mujhe Rumal la do meri naak Bhah Rahi hai |

वह पवित्र इंसान जल पीना छोड़ दे |

मछलिया उसमें तमाम गंदे काम करती हैं |

Vo Pavitra Insan Jal Pina Chhod De |

machhliyanusme Tamam gande kaam Karti Hain |

इतनी रात गए क्यों अपनी कब्र खोद रहा है गालिब |

ला फवड़ा मुझे भी दे दो |

Itni Raat Gaye Kyon apni kabr rakhoge Raha Hai Galib |

La fawda mujhe bhi de do |

जी चाहता है कि तेरे नाजुक होठों को चूम लूं |

मगर तेरी बहती हुई नाक ने इरादा बदल दिया |

Ji Chahta Hai Ki Tere Najuk Hothon Ko Chum Lun |

Lekin Teri bahti Hui naak  Irada Badal  Diya |

Hindi Shayari Dosti

चांद को गुरूर है कि उसके पास नूर है |

तो क्या हुआ |

मुझे भी गुरूर है कि मेरा  दोस्त लंगूर है |

Chand Ko Gurur hai ki uske pass Nur hai

To Kya Hua |

mujhe bhi Gurur hai ki Mera Dost langoor Hai |

jokes shayari hindi

बैठे-बैठे कमरे में कर रही थी प्रेस |

तेरी याद आई तो जल गई ड्रेस |

Baithe Baithe Kamre Mein kar rahi thi press |  

Teri yaad i to jal Gai dress |

खुद को कर बुलंद इतना कि |

हिमालय की चोटी पर जा पहुंचे |

और खुदा खुद मुझसे पूछे |

अबे गधे अब उतरेगा कैसे |

Khud Ko kar Buland Itna thi |

Himalay Ki choti per ja pahunche |

aur Khuda Khud Mujhse Puche |

Abe gadhe ab Utarega Kaise |

तू चांद मांगे  मैं चांद दे दूं |

रात मांगे मैं रात दे दू |

दिलल मांगे मै दिल दे दूं |

जान मांगे |

अबे बस कर डिपार्टमेंट स्टोर समझ रखा है क्या |

tu Chand Mange main Chand De Dun |

Raat Mange Main Raat De Dun |

Dil Maange Dil De Dun |

Jaan Mange  |

Bus kar  department Store samajh rakha hai kya |

मोहब्बत मुझे उन जवानों से है |

जो खाते पीते घरानो से हैं |

Mohabbat Mujhe UN javanon se hai |

jo khate Pite Gharane Se Hai |

फूल में हंसी गुलाब है

पढ़ने के लिए जरूरी कीताब है |

दुनिया में हर सवाल का जवाब है |

अगर कोई तुमसे मेरे बारे में पूछे |

तो कहना वह लाजवाब है |

phool mein Hasi Gulab hai |

padhne ke liye Jaruri Kitab hai |

Duniya Mein Har Sawal Ka Jawab Hai |

agar koi Tujhse Mere bare mein Puche

to Kahana vah lajawab hai |

jokes shayari hindi

तुम हंसते रहो |

ठहाके लगाते रहो |

खिलखिलाते रहो |

खुश रहो मेरा क्या लोग तुम्हें ही पागल कहेंगे |

Tum Hanste Raho |

thahake Lagate Raho |

khilKhilate Raho |

khush raho Mera Kya log Tumhe hi Pagal Kahenge |

सोचा था हर मोड़ पर आपको sms करेंगे |

पर कमबख्त सड़क सीधी निकली |

Socha Tha Har Mod per aapko SMS Karenge |

per Kambakht Sadak Sidhi Nikali |

MERIDOSTI.IN

खिड़की से देखा तो रास्ते पर कोई नहीं था |

रास्ते पर जाकर देखा तो खिड़की पे कोई नहीं था |

Khidki Se Dekha To Raste per koi nahin tha |

Raste per jakar Dekha To Khidki pe koi nahin tha |

रोशन – क्या मैं आवारा बेवकूफ लुच्चा लफंगा लगता हूं |

रोहित – क्यों |

रोशन – क्योंकि किसी ने मुझसे कहा कि मेरी शक्ल तुझसे बहुत मिलती है |

Roshan – Kya Main Awara bevkuf Lucha lafanga Lagta hun |

Rohit – Kyon |

Roshan – KyonKi Kisi Ne Mujhse kaha ki meri Shakal Tujhse bahut milati hai |

बुझ चुका है तुम्हारे हुस्न का हुक्का |

वह तो हम हैं कि गुड़गुड़ए जाते है |

Mujhe chuka hai tumhare Husn Ka Hukka | 

vah To Ham Hain Ki gudgudaye Jaate Hain |

Leave a Reply