hindi shayari dosti

hindi shayari dosti
Good morning with Hindi shayari

हर कोई प्यार के लिए तड़पता है|
हर कोई प्यार के लिए रोता है|
मेरे प्यार को गलत मत समझना|
प्यार तो दोस्ती में भी होता है|

Har Koi Pyar Ke Liye Tadapta hai|
Har Koi Pyar Ke Liye Rota Hai|
Mere Pyar Ko galat mat samajhna|
Pyar To dosti mein bhi Hota Hai|hindi shayari dosti


यही तो खूबसूरत दोस्ती चलाता है|
जो बिना किसी शर्त के निभाया जाता है|
रहे दूरियां दरमियां तो परवाह नहीं|
दोस्त तो हर पल दिल में बसाया जाता है|

Yahi to Khubsurat dosti chalata hai|
Jo Bina Kisi shirt ke nibhaya jata hai|
Rahe duriyan Darmiyaan to Parvah Nahin|
Doston Tu Har Pal Dil Mein basaya jata hai|

हरफूल खूबसूरत नहीं होता|
हर पत्थर हीरा नहीं होता|
दोस्त देखकर करना दोस्ती|
क्योंकि हर दोस्त हम सा नहीं होता|

hindi shayari dosti
Har Phool Khubsurat Nahin Hota|
Har Pathar Hira Nahin Hota|
Dost Dekh Kar karna Dosti|
Kyunki Har dost Ham Sa Nahin Hota|


हर कदम में इंतिहान लेती है जिंदगी|
हर वक्त नए सदमे देती  है जिंदगी|
पर हम जिंदगी से शिकवा कैसे करें|
की तुझसा दोस्त भी तो देती है जिंदगी|


Har Kadam Mein Imtihaan Leti Hai Jindagi|
Har Waqt nayi sadme Deti Hai Jindagi|
 per Ham Jindagi se Shikva kaise karen|
Ki Tujhse dost bhi to Deti Hai Jindagi|


hindi shayari dosti
Very sad shayari

दोस्ती होती है दिले राज बताने के लिए|
हम अपनी हंसी मिटा दें आपको हंसाने के लिए|
मिलने की तो आपको फुर्सत नहीं|
तो हम s.m.s. करते हैं याद दिलाने के लिए|


Dosti Hoti Hai dileraj batane ke liye|
Ham apni Hansi Mita De aapko hansane ke liye|
Milane ki to aapko Fursat Nahin|
To Ham SMS karte hain Yad dilane ke liye|hindi shayari dosti


दोस्ती तो सिर्फ एक यह इत्तफाक है|
यह दो दिलों की मुलाकात है|
दोस्ती नहीं देखती यह दिन है कि रात है|
अब तो दिन गुजरते हैं तुम्हारे s.m.s. के इंतजार में|

Dosti to sirf ek yah Ittefaq Hai|
Yeah Do Dilon Ki Mulakat Hai|
Dosti Nahin Dekhti yah Din Hai Ki Raat Hai|
Ab To Din Gujarte Hai Tumhare SMS Ke Intezar Mein|

hindi shayari dosti
Hindi shayari

हम वो रोशनी है जो दोस्ती को रोशन कर जाएंगे|
तेरी दोस्ती की एक चिंगारी से भी जल जाएंगे|


hindi shayari dosti
Ham vo Roshani Hai Jo Dosti Ko Roshan kar Jaenge|
Teri dosti ki ki ek Chingari se bhi Jal jaenge|


हरफूल खूबसूरत नहीं होता|
हर पत्थर चमकदार नहीं होता|
दोस्ती देखकर करना मेरे दोस्त|
हर दोस्त दिलदार नहीं होता|

Har Phool Khubsurat Nahin Hota|
Har Pathar chamakdar Nahin Hota|
Dosti Dekh Kar karna mere dost|
Har dost Dildar Nahin Hota|


hindi shayari dosti

दोस्ती नजरो से हो तो उसे कुदरत कहते हैं|
सितारों से हो तो उसे जन्नत कहते हैं|
हुस्न से हो तो उसे मोहब्बत कहते हैं|
और दोस्ती आप से हो तो उसे किस्मत कहते हैं|

Dosti najro se ho to use Kudrat Kahate Hain|
Sitaron se ho to use Jannat Kahate Hain|
Husn se ho to use Mohabbat Kahate Hain|
Aur Dosti aapse ho to use Kismat Kahate Hain|hindi shayari dosti


कांटे के बदले फूल क्या देंगे
आशु के बदले खुशी क्या देंगे
हम चाहते हैं आपसे उम्र भर की दोस्ती
हमारे इस सवाल का जवाब क्या देंगे

Kate Ke Badle Phool kya Denge|
Ashu Ke Badle Khushi kya Denge|
Ham chahte hain aapse Umra Bhar ki dosti|
Hamare is Sawal Ka Jawab Kya Denge|


दोस्तों यह शायरी आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं


Post a Comment

1 Comments