shayri lovely मोहब्बत के जो निभाते हैं उन को मेरा सलाम है|



shayari lovely ya Kuchh shayari Hai.  Ek dusre ko Pasand Charanon wali.  shayari lovely Hindi shayari lovely romantic shayari lovely.  Dil Ko Chhu jaane wali shayari lovely topics  shayari lovely Ek dusre ko Kareeb laane Mein madad Karegi ya shayari Dilon ko shayari

मोहब्बत के जो निभाते हैं उन को मेरा सलाम है|
जो बीच रास्ते में छोड़ जाते हैं उनको मेरा पैगाम है|
वादा वफ़ा करो तो खुद को फना करो|
वरना किसी की जिंदगी बर्बाद ना करें|

shayri lovely

mohbbat Ko Jo nibhate Hain unko Mera Salam hai|Jo bich Raste Mein Chhod Jaate Hain unko Mera Paigam hai|vada Wafa karo to Khud Ko Fanaa karo|Varna Kisi Ki Jindagi Barbad Na Karo|

shayri lovely

MERIDOSTI. In

दिल पर क्या गुजरी वह अनजान क्या जाने प्यार किसे कहते| हैं वह नादान क्या जाने हवा के साथ उड़ गए घर इस परिंदे का|
कैसे बना था घोसला वह तूफान क्या जाने|

Dil per kya Gujari vah Anjan Kya Jaane|
Pyar Kise Kahate Hai o Nadan Kya Jaana|
Hawa Ke Sath Ud Gaya Ghar is Parinde ka|
Kaise banaa tha ghosla vah tufan Kya Jaane|

Advertisement

shayri lovely

कौन कहता है हम उसके बिना मर जाएंगे|
हम दरिया  है समुंदर में उतर जायेंगे|
वह तरस जायेंगे प्यार की एक बूंद के लिए|
हम तो बादल हैं प्यार के किसी और पर बरस जाएंगे|

shayri lovely sms

Kaun Kahta Hai Ham Uske Bina Mar Jaenge | Ham Dariya Hain Samundar Mein Utar Jaenge | Vah Taras Jayenge Pyar ki Ek Boond Ke Liye | Hum To Badal Hai Pyar Ke  Kisi Aur per Baras Jaenge |

shayri lovely

जिंदगी में बार बार सहारा नहीं मिलता|
बार-बार जान से प्यारा नहीं मिलता|
है जो पास में उसे संभाल के रखना सीखो|
होकर वह फिर दोबारा नहीं मिलता|

Jindagi Mein Bar Bar Sahara Nahin Milta|
Bar Bar jaan se pyara Nahin Milta|
Hai Jo Pass me Usse Sambhal Ke Rakhna Sikho|
Hokar vah FIR Dobara Nahin Milta|

shayri lovely

इश्क सभी को जीना सिखा देता है|
वफा के नाम पर मरना सिखा देता है|
इश्क नहीं किया तो करके देखो|
जालिम हर दर्द सहना सिखा देता है|

shayri lovely

Ishq sabhi ko Jina Sikha Deta hai|
Wafa Ke Naam Par Marna Sikha deta hai|
Ishq nahin kiya to Karke Dekho|
jalim Hardas Se Na Sikha deta hai|

shayri lovely

बिना देखे मैं तुझसे प्यार कर बैठा बस मैं यही गुनाह कर बैठा|
मिलना तो तुझसे किस्मत को मंजूर नहीं था मैं सब कुछ जानते हुए फिर भी तुझसे मोहब्बत बेपनाह कल बैठा|
अगर मंजूर हुआ किस्मत को तो फूल फिर इस दिल में खिलेंगे | बिछड़े हुए दो दिल फिर से मिलेंगे|
अगर मिल ना पाए इस जन्म में तो क्या हुआ|
हम तो आशिक हैं फिर मिलेंगे किसी और जन्म मे

Bina Dekhe main Tujhse Pyar Kar Baitha | Bus mein Yahi Gunah  kar Baitha | Milna to Tujhse Kismat Ko manjur Na Tha | Main sab Kuchh Jante hue Fir Bhi Tujhse Mohabbat Bepanah kar Baitha | Agar manjur Hua Kismat ko To Fool fir iss dil  me Khilenge | Bichde Hue Do Dil fir se Mileage | Agar Mil Na Paye iss Janm Mein To Kya Hua | Ham to Aashiq hai FIR milenge Kisi Aur Janam Mein |

दोस्तों यह शायरी आप सबको कैसी लगी कमेंट करके हमें जरूर बताएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *